गुण्डा एक्ट के तहत 6 बदमाशों को नागौर जिले से एक माह के लिए निष्कासित किया

क्राइम प्रशासन

गुण्डा नियंत्रण अधिनियम के तहत अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट न्यायालय के पीठासीन अधिकारी ने दिए आदेश

नागौर // अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट न्यायालय के पीठासीन अधिकारी मोहनलाल खटनावलिया ने जिले के 6 व्यक्तियों को गैर कानूनी गतिविधियां होने व आस पास के क्षेत्र में दहशत व आतंक होने तथा आम शोहरत खराब होने से पुलिस अधीक्षक द्वारा प्रस्तुत परिवाद पर राजस्थान गुण्डा नियंत्रण अधिनियम 1975 की धारा 3 के तहत जिला नागौर से 1 माह के लिए निष्कासित करने का निर्णय दिया है।
अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट खटनावलिया ने 6 जुलाई को दिये निर्णय में थाना क्षेत्र जायल के हरीराम पुत्र अर्जुनराम जाति बावरी को 1 माह के लिए निष्कासित कर पुलिस थाना सुजानगढ जिला चुरू में उपस्थित होने के निर्देश दिए हैं। इसी प्रकार 13 जुलाई को दिये निर्णय में थाना क्षेत्र रोल के लाल मोहम्मद पुत्र महमूद जाति काजी को पुलिस थाना नोखा जिला बीकानेर में, 14 जुलाई के निर्णय में थाना क्षेत्र मेडता रोड के बाबूलाल पुत्र तेजाराम जाति नायक को पुलिस थाना पुष्कर जिला अजमेर में हाजिर होने के निर्देश दिए हैं। एडीएम खटनावलिया ने 20 जुलाई को दिये निर्णय में कोतवाली नागौर के राकेश पुत्र सायर राम जाति सांसी व सुनिल पुत्र इंद्रसिंह जाति सांसी को पुलिस थाना नोखा जिला बीकानेर में तथा 21 जुलाई को दिये निर्णय में थाना मेडता सिटी के अब्दुल कलाम पुत्र अनवर खां जाति काजी को पुलिस थाना पुष्कर जिला अजमेर में उपस्थिति देने के निर्देश दिये हैं।

Advertisements