मेड़ता सिटी के संजय सैन को मध्यकालीन नागौर के इतिहास विषय में पीएचडी की उपाधि

आसपास शिक्षा

राजकीय महाविद्यालय मेड़ता सिटी में कम्प्यूटर पद पर कार्यरत है संजय सेन

मेड़ता सिटी // मेड़ता शहर के निवासी संजय सैन ने जय नारायण व्यास विश्वविद्यालय जोधपुर द्वारा इतिहास विषय में पीएचडी की उपाधि हासिल की है। उन्होंने मध्यकालीन नागौर की स्थापत्य कला का ऐतिहासिक एवं कलात्मक अध्ययन (10वीं सदी से 17वीं सदी तक) विषय में पीएचडी (डाक्ट्रेट) की उपाधि सफलतापूर्वक प्राप्त की है। डॉ. संजय सैन वर्तमान में राजकीय महाविद्यालय मेड़ता सिटी में कम्प्यूटर ऑपरेटर पद पर कार्यरत है व भारतीय सांस्कृतिक निधि (इन्टेक), राजस्थान हिस्ट्री कांग्रेस के आजीवन सदस्य भी है। सैन ने बताया कि उन्होनें दस से अधिक सेमिनारों में भाग लिया है तथा एक कार्यशाला में भी भागीदारी निभाई। डॉ. संजय सैन के तीन से अधिक पेपर भी राष्ट्रीय स्तर की पत्रिकाओं में प्रकाशित हो चुके है।
इस मौके पर राजकीय महाविद्यालय मेड़ता सिटी के प्राचार्य डॉ. बलवीर सेन, डॉ. राजकुमार सामंत, डॉ. हरदेव राम, डॉ. रामेश्वर लाल, बलदेव राम, बाबूलाल कसवा सहायक लेखाधिकारी, नरेन्द्र पाल जाट, ललित कुमार टेलर, हर्षवर्धनसिंह शेखावत, रामनिवास सूमरा, मनोहर लाल व वरिष्ठ साहित्यकार देवीकिशन राजपुरोहित, मीरां शोध संस्थान के सचिव श्यामसुंदर सिखवाल ,मीरा स्मारक व्यवस्थापक नरेंद्रसिंह जसनगर, राजस्थानी भाषा साहित्य के साहित्यकार डॉ रामरतन लटियाल एवं डॉ कालू खान देशवाली सहित स्थानीय साहित्यकारों ने पीएचडी की उपाधि मिलने पर डॉ. संजय सैन को हार्दिक शुभकामनाएं दी।

Advertisements