सूरत के एक व्यापारी को कुचामन में बंधक बनाकर लूटने में मेवात गैंग का हाथ, 2 गिरफ्तार

क्राइम

आरोपियों ने पीड़ित के खाते से एक लाख 45 हजार रुपए भी निकाले, पुलिस ने किए बरामद

कुचामन-नागौर // गुजरात के एक व्यापारी को कुचामन में बंधक बनाकर उसके साथ लूट करने के प्रकरण में मेवात गैंग के दो आरोपियो को कुचामन पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने तकनीकी रूप से पीड़ित के बैंक खाते से 1 लाख 45 हजार रुपए अपने खातों में ट्रांसफर करवा लिए थे जिसे पुलिस ने बरामद कर लिया। आरोपियों के कब्जे से पुलिस को कई अहम सुराग भी मिले हैं। अब पुलिस आरोपियों से कड़ी पूछताछ कर रही है।

पुलिस अधीक्षक राममूर्ति जोशी ने बताया कि गुजरात के सूरत शहर के वव्यापारी युधिष्ठिर पानीग्राही ने पुलिस को दी रिपोर्ट में बताया था कि 9 सितंबर 22 को वो कुचामन के एक व्यापारी के बुलावे पर एक मशीन का सौदा करने कुचामन आया था। यहां बस स्टॉप पर उतरते ही उसे दो युवक डीडवाना बाइपास स्थित एक मकान में ले गए और वहां उसे बंधक बनाकर उसकी जेब से 35 हजार रुपए नकद, एटीएम कार्ड, सोने की अंगूठी, पर्स, मोबाइल छीन लिए। सभी ने उसके साथ मारपीट की और बाद में कमरे में बंद कर दिया। इस दौरान आरोपियों ने उसके खाते से एक लाख 45 हजार रुपए भी अपने खातों में ट्रासफर करवा लिए। बाद में आरोपी मौका देख वहां से भाग निकला तथा एक कार के शोरूम में जाकर आपबीती बताई और पुलिस को इत्तला दी थी। इस पर कुचामन पुलिस ने मुकदमा दर्ज अनुसंधान शुरू किया। दौरान अनुसंधान तकनीकी सहायता से पता चला कि ये कार्य मेवात गैंग के सदस्यों का है। इस पर पूरी छानबीन कर पुलिस ने हरियाणा के जिला नूंह के चिलावली गांव नवासी अली मोहम्मद मेव मुसलमान और अलवर जिले के कारण्डा थाना क्षेत्र के समीम पुत्र दीन मोहम्मद मेव मुसलमान को गिरफतार किया है। पुलिस ने दोनों आरोपियों से एक लाख 45 हजार रुपए भी बरामद किए। एसपी जोशी ने बताया कि ये कार्रवाई कुचामन एएसपी गणेशाराम, कुचामन वृत्ताधिकारी संजीव कटेवा और कुचामन थानाधिकारी मनोज माचरा के निकटतम सुपरविजन में की गई।

Advertisements